Category: हिन्दी चिट्ठा

आस्तीन के धन...

पौराणिक काल में, जब लोग अपने द्वारा लिए गए प्रण को तोड़ने से डरते थे, एक राज्याधिकारी ने सार्वजनिक प्रतिज्ञा ली की "अगर मैं, मुझे रिश्वत में दिए गए धन को छु भी लूं, तो मैं अग्नि द्वारा भस्म हो जाऊँ". उनकी इस प्रतिज्ञा को लोगों ने काफी सराहा. राज्याधिकारी लोगों की प्रशंसा को सुन कर फुले नहीं समाते थे. वो इस प्रसिद्धि से काफी रोमांचित थे. एक दिन एक...